अश्वगंधा और सतावर के फायदे आपको चौंका देंगे

Header ad

अश्वगंधा और सतावर के फायदे आपको चौंका देंगे

अश्वगंधा, सतावर और सफेद मूसली के फायदे:-

आज के समय में हर कोई एक अच्छी बॉडी बनाना चाहता है लेकिन सही ज्ञान नहीं होने के कारण कई दवाइयों का इस्तेमाल करके अपने शरीर का नुकसान कर लेते है।
Ashwagandha ke fayde
अश्वगंधा
हम आपको आज एक ऐसी आयुर्वेदिक दवाई के बारे में बताएँगे जिसे आप आसानी से इस्तेमाल करके एक अच्छी बॉडी और निरोगी शरीर का निर्माण बड़ी ही आसानी से कर सकते है।
यह पूर्ण रूप से आयुर्वेदिक दवा है जिसका किसी भी तरह का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता है तथा इससे होने वाले फायदे आपको विस्तार से बताये गए है।

सही वजन और एक अच्छी पर्सनालिटी आज हर कोई पाना चाहता है।दुबले पतले शरीर की वजह से आपको बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है तथा बहुत शर्मिंदगी भी महसूस होती है।

आज हम आपको बहुत ही भरोसेमंद तथा कई दवाओं में इस्तेमाल की जाने वाली आयुर्वेदिक ओषदि के बारे में बता रहे है। जिसका इस्तेमाल करके आप अच्छी पर्सनालिटी पा सकते है।


आप किसी भी आयुर्वेदिक या पतंजलि शॉप पर जाकर अश्वगंधा,सतावर और सफ़ेद मूसली के पाउडर को खरीद सकते है।

तीनो के पाउडर को आपको मिक्स करना है तथा सुबह शाम दूध के साथ एक एक चमच्च लेना है।इसका किसी भी तरह का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है।

अश्वगंधा

Buy Now - Click here to buy
अश्वगंधा को जीणोद्धारक औषधि के रूप में जाना जाता है। इसमें एण्टी टयूमर एंव एण्टी वायोटिक गुण भी पाया जाता है। अग्रलिखित बीमारियों के उपचार हेतु अश्वगंधा का प्रयोग किया जाता है।


1. पौधों की जड़े शक्तिवर्धक, शुक्राणु वर्धक एंव पौष्टिक होती हैं। यह शरीर को शक्ति प्रदान कर बलवान बनाती हैं।

2. अश्वगंधा की जड़ों के पाउडर का प्रयोग खाँसी एंव Asthma को दूर करने के लिये भी किया जाता है।


3. महिला संबधी बीमारियों जैसे White Discharge, गर्भपात आदि में अश्वगंधा की जड़े लाभकारी होती हैं।

4. तंत्रिका तंत्र सबंधी कमजोरी को भी दूर करने के लिये इसका Use किया जाता है।

5. अश्वगंधा के द्वारा बहुत सारी आयुर्वेदिक Medicine का निर्माण किया जाता है। जिसमें अश्वगंधारिष्ट मुख्य औषधि है।

6. गठिया एंव जोड़ो के दर्द को ठीक करने के लिये भी अश्वगंधा की जड़ों के चूर्ण का प्रयोग किया जाता है।

7. नपुंसकता में पौधें की जड़ों का एक चम्मच पाउडर दूध के साथ प्रतिदिन सेवन करने से काफी लाभ मिलता है।

8. अश्वगंधा की जड़ों को त्वचा सबंधी बीमारियों के निदान हेतु भी प्रयोग में लाया जाता है।
Buy Now - Click here to buy

सतावर:-

Buy Now - Click here to buy
सतावर (शतावरी) की जड़ का उपयोग मुख्य रूप से ग्लैक्टागोज के लिए किया जाता है जो स्तन दुग्ध के स्राव को उत्तेजित करता है। इसका उपयोग शरीर से कम होते वजन में सुधार के लिए किया जाता है तथा इसे कामोत्तेजक के रूप में भी जाना जाता है।
Satawar ke fayde
Satawar
इसकी जड़ का उपयोग दस्त, क्षय रोग (ट्यूबरक्लोसिस) तथा मधुमेह के उपचार में भी किया जाता है। सामान्य तौर पर इसे स्वस्थ रहने तथा रोगों के प्रतिरक्षण के लिए उपयोग में लाया जाता है। इसे कमजोर शरीर प्रणाली में एक बेहतर शक्ति(Power) प्रदान करने वाला पाया गया है।

इसका उपयोग स्त्री रोगों जैसे Delivery के उपरान्त दूध का न आना, बांझपन, गर्भपात आदि में किया जाता है। यह जोडों के दर्द(Pain) एवं मिर्गी में भी लाभप्रद होता है।

इसका उपयोग(Use) प्रतिरोधात्मक शक्ति बढाने के लिए भी किया जाता है। शतावर जंगल में स्वतः(Automatic) उत्पन्न होती है। चूंकि इसका औषधीय महत्व भी है अतः अब इसका व्यावसायिक उत्पादन(Production) भी है। इसकी लतादार झाडी की पत्तियां पतली और सुई के समान होती है। इसका फल‌ मटर के दाने की तरह गोल तथा पकने पर लाल होता है।
Buy Now - Click here to buy

सफ़ेद मूसली

Buy Now - Click here to buy
1. थकान और कमजोरी के लिए: शक्कर (Brown Sugar) के साथ सफेद मुस्ली थकान को कम करने में मदद करता है और शरीर को ताकत देता है।
2. वजन बढ़ाने के लिए: आप वजन बढ़ाने के लिए दूध के साथ इसे ले सकते हैं।
3. अल्पशुक्राणुता के लिए: यह अल्पशुक्राणुता के उपचार के लिए बहुत उपयोगी है और गिनती, मात्रा, द्रवीकरण समय और गतिशीलता को बेहतर बनाता है। यह सीरम टेस्टोस्टेरोन का स्तर और वृषण कार्य भी सुधारता है।

4. स्वप्नदोष के इलाज के लिए: अगर रोगी रात में उत्सर्जन के बाद कमजोरी, पीठ दर्द और शक्ति या ऊर्जा की कमी महसूस करता है, तो शक्कर के साथ सफ़ेद मूसा पाउडर का कुछ हफ्तों तक इस्तेमाल किया जाना चाहिए। यह उपाय रात के उत्सर्जन की आवृत्ति कम करने और शरीर को पुनर्जन्म करने में मदद करता है।

5. स्तम्भन दोष के इलाज के लिए: यह लिंग ऊतक को ताकत प्रदान करता है, कठोरता में सुधार करता है, और लंबे समय तक उत्सर्जन को बनाए रखने में मदद करता है। यह मुख्य रूप से ताकत प्रदान करता है, टेस्टो पर कार्य करता है, Harmon Profile में सुधार करता है, और शुक्राणुजनन को प्रेरित करता है।

6. गठिया और संयुक्त दर्द के लिए: इसमे अनुत्तेजक गुण है, जो गठिया में होने वाली Swelling को कम करने में मदद करतें हैं।
7. यह मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने और तनाव(Tension) और अवसाद का सामना करने में मदद करता है।

8. Ladies के लिए यह जड़ीबूटी योनि(Vagina) सूखापन से छुटकारा पाने में मदद कर सकती है।
9. यह स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए भी उपयोगी है क्योंकि इससे दूध की गुणवत्ता(Quility) में सुधार होता है।
10. यह शरीर के निर्माण के लिए एक स्वास्थ्य पूरक के रूप में भी प्रयोग किया जाता है।
Buy Now - Click here to buy
Buy Now Combo - Ashwagandha,Satawar,Safed Musli


                               

Post a Comment

0 Comments